Thursday, December 2, 2021
HomeBenefits in HindiBenefits Of Giloy In Hindi : गिलोय के फायदे और नुकसान

Benefits Of Giloy In Hindi : गिलोय के फायदे और नुकसान

- Advertisement -

आज हम आपको Benefits Of Giloy In Hindi के बारे में बता रहे है व इसके फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी देंगे आज कई लगो गिलोय का अलग अलग फायदे के लिए इस्तमाल करते है इसमें कई तरह के गुण पाए जाते है जो की बहुत से बीमारियों से सुरक्षित  रखने में आपकी मदद करते है इसका इस्तमाल करने से पहले आपको इसके लाभ और इसके इस्तमाल करने के तरीको के बारे में पता होना बहुत ही जरुरी है

Benefits Of Giloy In Hindi

- Advertisement -

गिलोय को आयुर्वेद में बहुत ही फायदेमंद माना गया है व इसे आयुर्वेद में रसायन का दर्जा प्रदान किया गया है जिसका अर्थ है की यह स्वास्थ्य के लिए बेहद ही उपयोगी है व इसका इस्तमाल आँख, पित्त, पीलिया, जलन, भूख न लगने आदि कई तरह की समस्या से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है व शायद ही आपको Benefits Of Giloy In Hindi के बारे में इतनी जानकारी होगी अगर आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होगा

Benefits Of Giloy In Hindi

गिलोय के पत्ते स्वाद में कड़वे, कसैले और तीखे होते है व यह शरीर के लिए कई तरह से उपयोगी माने जाते है इसका कई अलग अलग बीमारियों में उपयोग किया जा सकता है व अगर किसी महिला को शारीरिक कमजोरी है तो वो भी इसका इस्तमाल कर सकती है यह कभी न सूखने वाली एक लता होती है व इसका तना दिखने में एक रस्सी की तरह होता है व इसके ऊपर  हरे और पिले रंग के फूलो के गुच्छे भी निकलते है

गिलोय की सबसे बड़ी खासियत यह होती है की यह जिस भी पेड़ पर चढ़ती है उस पेड़ के गुण इसमें समा जाते है इस वजह से यह भी माना जाता है की नीम के पेड़ पर चढ़ने वाली गिलोय सबसे ज्यादा लाभदायक होती है

आँखों से जुडी समस्या में गिलोय के फायदे

आँखों से जुडी समस्या होने पर आपको गिलोय का इस्तमाल करना चाहिए यह आखो के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है व इसके लिए 10 मिली गिलोय के रस को 1 ग्राम शहद और 1 ग्राम सैंधा में मिलकर इसे अच्छे से पीस ले व इसका काजल तैयार कर ले इसे आँखों में लगाने से आँखों की चुभन, बाद बाद अँधेरा छाना और काला व सफ़ेद मोतियाबिंद होने पर आराम मिलता है

अगर कोई अपनी आँखों की रोशनी को बढ़ाना चाहता है तो इसके लिए गिलोय के रस में त्रिफला को मिलकर इसका काढ़ा बना लेना है व इसके बाद आप 10 मिली काढ़ा को 1 ग्राम पीपली चूर्ण अथवा शहद के साथ प्रतिदिन सुबह और शाम को सेवन कर सकते है इससे आँखों की रौशनी तेज होने लगती है पर इसके इस्तमाल से पहले आपको किसी विशेषज्ञ की सलाह लेनी बेहद आवश्यक है

कान की समस्या होने पर गिलोय के फायदे

कान से जुडी समस्या में भी गिलोय बहुत ही अच्छा माना जाता है व कान की बीमारी होने पर आपको गिलोय के तने को गुनगुने पानी में अच्छे से घिस लेना है इसके बाद आप इसके 2 – 2 बूंद कान में डाले इससे कानो की गन्दगी साफ हो जाती है व  कान के दर्द में भी राहत मिलती है

हिचकी आने पर गिलोय के फायदे

किसी को हिचकी आ रही है तो उसे गिलोय एवं सौंठ को मिलकर चूर्ण बना लेना है इसके बाद इस चूर्ण को सूंघने से हिचकी आनी बंद हो जाती है और अगर आप चाहे तो गिलोय को सौंठ के चूर्ण के साथ मिलकर चटनी बना ले और इसका दूध के साथ मिलकर सेवन करें इससे भी हिचकी आनी बंद हो जाती है व एक बात ध्यान रखे की आपको कम मात्रा में इसका सेवन करना चाहिए

उल्टी होने पर गिलोय के फायदे

किसी व्यक्ति को एसिडिटी के कारण उल्टी हो रही है तो उस व्यक्ति को 10 मिली गिलोय के रस को 4 – 5 ग्राम मिश्री के साथ सुबह और शाम को पीना चाहिए इससे उल्टी होनी बंद हो जाती है व अगर किसी को बुखार के कारण उल्टी हो रही है तो उसे 20 मिली गुडूची के काढ़े को मधु के साथ सेवन करने से फायदा मिलता है

कब्ज होने पर गिलोय के फायदे

कुछ खाने पिने की वजह से या अन्य कारण से किसी को कब्ज होने की स्थिति में आपको गिलोय के 10 मिली रस को गुड़ के साथ सेवन करना चाहिए इससे कब्ज से राहत मिलती है

बवासीर होने पर गिलोय के फायदे

बवासीर में गिलोय का काढ़ा बहुत ही फायदेमंद होता है व जो लोग बवासीर से जुडी समस्या का सामना कर रहे है उन्हें 20 ग्राम गिलोय व इसके बराबर मात्रा में धनिया और हरड़ लेकर इसमें आधार लीटर पानी डालना है इसके बाद आप इसे अच्छे से पका ले व जब पानी एक चौथाई रह जाए तो आप इसका काढ़ा बना ले व सुबह शाम इसमें गुड़ डालकर सेवन करने से बवासीर से जुडी समस्या ठीक हो जाती है

पीलिया होने पर गिलोय के फायदे

किसी व्यक्ति को पीलिया हो जाता है तो वो भी गिलोय का इस्तमाल कर सकता है इसके इस्तमाल से पीलिया ठीक हो जाता है पीलिया के रोगी को 2 – 3 गिलोय के पत्तो को पीसकर उसे एक ग्लास छाछ में मिलाकर छान ले व इसका सुबह के वक्त सेवन करने से पीलिया ठीक हो जाता है

डाइबिटीज में गिलोय के फायदे

डायबिटीज के रोगी के लिए भी  गिलोय बहुत ही उपयोगी होता है व डाइबिटीज के रोगी को 10 मिली गिलोय के रस में 2 चम्मच शहद मिलकर इसका दिन में 2 – 3 बार सेवन करने से डाइबिटीज की समस्या में लाभ मिलता है

गठिया  रोग में गिलोय के फायदे

जो व्यक्ति गठिया रोग से ग्रसित है उस व्यक्ति को 5 मिली गिलोय का रस या 6 ग्राम गिलोय का चूर्ण  10 ग्राम गिलोय का पेस्ट अथवा 20 मिली गिलोय का काढ़ा प्रतिदिन सेवन करना चाहिए इससे गठिया जैसे रोग में काफी लाभ मिलता है व किसी को जोड़ो के दर्द की समस्या है तो उसे सौंठ मिलकर सेवन करने से लाभ मिलता है

एसिडिटी होने पर गिलोय के फायदे

एसिडिटी होने पर भी गिलोय बहुत ही लाभदायक होता है व एसिडिटी होने पर 10 मिली गिलोय के रस को गुड़ के साथ सेवन करना चाहिए इससे एसिडिटी की समस्या में तुरंत लाभ प्राप्त होता है

गिलोय के सेवन से नुकसान

जिस तरह से गिलोय के सेवन से कई तरह के फायदे होते है उसी तरह से इसके कुछ नुकसान भी है इसलिए इसका इस्तमाल हमेशा किसी विशेषज्ञ की सलाहनुसार ही करना चाहिए व गिलोय मधुमेह को कम करता है इसलिए जिस व्यक्ति को डाइबिटीज की शिकायत हो उसे इसका इस्तामल नहीं करना चाहिए व कोई महिला गर्भवती हो तो उसे भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको Benefits Of Giloy In Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है की आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट के द्वारा बता सकते है

- Advertisement -

Related Articles

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles