Wednesday, May 18, 2022
HomeBenefits in HindiBrahma Rasayana Benefits In Hindi : ब्रह्म रसायन के फायदे और नुकसान

Brahma Rasayana Benefits In Hindi : ब्रह्म रसायन के फायदे और नुकसान

- Advertisement -

नमस्कार मित्रो आज हम Brahma Rasayana Benefits In Hindi के बारे में  बात करने वाले है अगर आप ब्रह्म रसायन का सेवन करना चाहते है तो इसके सेवन से पहले आपको इसके फायदे आदि के बारे में जानकारी होनी बेहद ही आवश्यक है ताकि आप इसका  सही  तरीके से इस्तमाल कर सके और आपको इससे होने वाले फायदे और नुकसान आदि के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके

Brahma Rasayana Benefits In Hindi

- Advertisement -

अक्सर लोग इसके बारे में पूछते रहते है की आखिर इसका इस्तमाल कैसे होता है, यह कहा से ख़रीदे, इसका सेवन कब और कैसे करना है एवं इससे क्या क्या फायदे और नुकसान आदि हो सकते है तो इन सबके बारे में हम इस आर्टिकल में जानेगे इससे जुडी जानकारी के लिए आप Brahma Rasayana Benefits In Hindi आर्टिकल को ध्यान से पढ़े ताकि आपको पूरी जानकारी समझ में आ सके

Brahma Rasayana Benefits In Hindi

आयुर्वेद में ब्रह्म रसायन के कई अलग अलग फायदे बताये गए है व यह कई तरह की बीमारियों को दूर करने में सहायक होता है अगर आप इसका इस्तमाल करते है तो आप कई तरह की बीमारियों दूर भगा सकते है इसका इस्तमाल कई तरह की बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है

 शक्ति प्रदान करने में ब्रह्म रसायन के फायदे

अगर कोई व्यक्ति दुर्बलता का शिकार है या कोई व्यक्ति कमजोर है तो वो ब्रह्म रसायन का सेवन कर सकता है इसके से शरीर को ऊर्जा प्राप्त होती है और शरीर में स्फूर्ति, तेजी, क्रांति, बल और वीर्यधारण शक्ति बढ़ती है

स्मरण शक्ति बढ़ाने में ब्रह्म रसायन के फायदे

ब्रह्म रसायन का सेवन स्मरण  शक्ति को बढ़ाने के  लिए भी किया जाता है अगर आप इसका सेवन करते है तो इससे आपकी याददास्त तेज होती है और आपके याद करने की शक्ति भी बढ़ जाती है इसलिए मंदबुद्धि व्यक्ति के लिए भी ब्रह्म रसायन का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है

गुप्त समस्या में ब्रह्म रसायन के फायदे

अक्सर कई लोग वीर्य से जुडी समस्या का सामना करते है ऐसे में ब्रह्म रसायन का इस्तमाल करना काफी अच्छा साबित होता है यह वीर्य की मात्रा बढ़ाने में मदद करता है और इसके सेवन से वीर्य गाढ़ा बनता है और वीर्य से जुडी अन्य कई तरह की समस्याओ से भी छुटकारा मिलता है

रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में ब्रह्म रसायन के फायदे

रोगप्रतिरोधक क्षमता जिसे इम्युनिटी पॉवर भी कहा जाता है यह सभी के लिए बेहद ही अहम् होता है यही आपको कई तरह की बीमारियों से बचाकर रखता है अगर आपका इम्युनिटी पॉवर अच्छा है तो आप कई तरह की बीमारियों और संक्रमण आदि से बचे रह सकते है व किसी व्यक्ति को इम्युनिटी पॉवर बढ़ाना है तो इसके लिए उसे ब्रह्म रसायन का सेवन करना चाहिए इससे काफी अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे

लिवर के लिए ब्रह्म रसायन के फायदे

ब्रह्म रसायन शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है व इसके सेवन से लिवर, ह्रदय, आमाशय, यकृत आदि सभी अंग निरोगी रहते है और इसका नियमित सेवन करने से मांसपेशियों को मजबूती मिलती है व सभी अंग बेहतर तरीके से कार्य करने में सक्षम होते है जिससे आप कई तरह की बीमारियों से बचे रहते है

वीर्यनाश की कमजोरी में ब्रह्म रसायन के फायदे

अगर किसी चिंता या तनाव अथवा बचपन की गलती से वीर्यनाश होता है तो इसका परिणाम युवावस्था में देखने को मिलता है व इससे शुक्राणुक्षीणता और शारीरिक दुर्बलता आदि की समस्या हो सकती है ऐसे में ब्रह्म रसायन का सेवन बहुत उपयोगी साबित होता है

ब्रह्म रसायन का सेवन किस स्थिति में करें

आपको यह जानना बहुत ही जरुरी है की आखिर इसका सेवन कब करना चाहिए तो हम आपको कुछ मुख्य  कारण बता रहे है जिसमे आप इसका सेवन कर सकते है इससे आपको बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे

  • भूलने की समस्या
  • मानसिक थकान होना
  • कंस्टक्शन की कमी होना
  • चिंता और डिप्रेशन
  • नींद का न आना
  • सरदर्द, माइग्रेन, तनाव
  • बालो का झड़ना
  • समय से पहले बाल सफ़ेद होना
  • समय से पहले बुढ़ापे के लक्षण दिखना

निम्न तरह की परिस्थिति में ब्रह्म रसायन का सेवन किया जाता है व ब्रह्म रसायन का सेवन करने से आपको निम्न प्रकार की बीमारियों से छुटकारा मिलता है

ब्रह्म रसायन के दुष्प्रभाव

ब्रह्म रसायन का सेवन करने से कुछ लोगो में दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते है इसका मुख्य कारण ब्रह्म रसायन की खुराक गलत तरीके से लेना होता है अगर सही तरीके से इसका सेवन किया जाये तो इसके दुष्प्रभावों से बचा जा सकता है एवं सभी में अलग अलग प्रकार के दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते है जैसे

  • चक्कर
  • उनींदापन
  • सिर भारी होना
  • घबराहट

ब्रह्म रसायन का सेवन कब करें

ब्रह्म रसायन का सेवन 10 से 15 ग्राम दूध या गुनगुने पाने के साथ किया जाता है व आप दिन में दो बार इसका सेवन कर सकते है एवं लगातार 1 से 2 माह तक आपको इसका सेवन करना होता है वही डाइबिटीज के रोगी को इसका सेवन नहीं करना चाहिए एवं आप ब्रह्म रसायन का सेवन करने से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह जरूर ले और उसके निर्देशानुसार ही इसका सेवन करें

ब्रह्म रसायन सेवन से पहले सावधानी

जो व्यक्ति मधुमेह की समस्या से ग्रसित है उसे ब्रह्म रसायन का सेवन बिलकुल नही करना चाहिए वही गर्भवती महिलाओ को भी इसका सेवन डॉक्टर की सलाह लेकर उसके निर्देशानुसार ही इसका सेवन करना चाहिए ताकि बादमे किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े

ब्रह्म रसायन के घटक

ब्रह्म रसायन में कई तरह के घटक मिलाये जाते है जो निम्न प्रकार से होते है

  • अगर
  • अरलूछाल
  • एरण्ड
  • गंभारी छाल
  • गोखरू
  • छोटीकटेरी
  • जीवंती
  • जीवक
  • दालचीनी
  • नागकेशर
  • नागरमोथा
  • पीपल
  • पुनर्नवा
  • पृष्ठपर्णी
  • बड़ीकटेरी
  • बला
  • बेलछाल
  • ब्राह्मी
  • मुलेठी
  • वायविडंग
  • शंखपुष्पी
  • शतावरी
  • शालपर्णी
  • शालीधान्य
  • सफेद चंदन
  • हल्दी

यह सभी घटक ब्रह्म रसायन में मिलाये जाते है इसके कारण ही यह इतना गुणवान बनता है व सभी कपनी अपने ब्रह्म रसायन प्रोडक्ट में अलग अलग तरह के घटक का इस्तमाल करती है

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको Brahma Rasayana Benefits In Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप कमेंट के द्वारा भी बता सकते है

- Advertisement -

Related Articles

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles